किसानों के प्रदर्श’न के बीच ट्विटर पर भि’ड़े हरियाणा और पंजाब के CM, जाने किसने क्या कहा ?

मोदी सरकार की नई किसान नीति के खि’लाफ किसानों का प्रदर्शन जारी है। किसानों के प्रदर्शन के बीच हरियाणा और पंजाब के मुख्यमंत्री के बीट ट्विटर वॉ’र शुरू हो गया है। दरअसल जब हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने ट्वीट कर पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह पर किसानों को उक’साने का आरो’प लगाया तब पंजाब के सीएम ने इसपर करा’रा जवाब दिया है।

हरियाणा के सीएम ने ट्वीट कर कहा था कि कैप्टन अमरिंदर सिंह जी, मैंने पहले भी कहा है और मैं यह फिर से कह रहा हूं। अगर किसानों को MSP पर कोई भी प’रेशानी हुई तो मैं राजनीति छो’ड़ दूंगा- तब तक भोले-भाले किसानों को उक’साना छोड़ दीजिए। मैं पिछले तीन दिनों से आप से बातचीत करने की कोशिश कर रहा हूं लेकिन अफसोस की बात है कि आपसे बात नहीं हो पा रही है। मनोहर लाल खट्टर ने अपने इस ट्वीट में पंजाब के सीएम को भी टैग किया था।

थोड़ी ही देर बाद कैप्टन की तरफ से इस ट्वीट का जवाब देते हुए ट्विटर पर कहा गया कि ‘आपकी प्रतिक्रिया देख कर दं’ग हूं खट्टर जी. आपको एमएसपी को लेकर किसानों को मनाने की जरुरत है मुझे नहीं। आपको उनके ‘दिल्ली चलो’ से पहले उनसे बातचीत करने की कोशिश करनी चाहिए थी। अगर आप यह सोचते हैं कि मैं किसानों को उ’कसा रहा हूं तो फिर हरियाणा के किसान भी दिल्ली की तरफ मार्च क्यों कर रहे हैं?’

आपको बता दें कि किसानों के इस प्रदर्श’न के बीच केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों से बातचीत की पेशकश की है। गुरुवार को केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ‘नए कानू’न बनाना समय की आवश्यकता थी। पंजाब में हमारे किसान भाई-बहनों को कुछ भ्र’म है, हमने भ्र’म दूर करने के लिए सचिव स्तर पर वार्ता की। मैंने 3 दिसंबर को सभी किसान यूनियन को फिर बैठक के लिए अनुरो’ध किया है, सरकार चर्चा के लिए पूरी तरह तैयार है।’

उन्होंने कहा, ‘मोदी सरकार किसानों के खेतों के प्रति प्रतिब’द्ध है। न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को डेढ़ गुना कर दिया गया है। एग्रीकल्चर के क्षेत्र में एक लाख करोड़ रुपए के इंफ्रास्ट्रक्चर पर काम करना शुरू कर दिया।” उन्होंने किसानों से अपील की कि वे सड़कों पर आंदोलन बं’द करें और बातचीत के लिए आगे आएं।’