सुधीर चौधरी का विडियो वायरल, जी न्यूज़ पर बोले- किसान आं’दोलन को खालिस्तानियों ने…

किसान आंदोलन को लेकर देश की सियासत ग’रमाई हुई है। पंजाब से दिल्ली आए किसान नरेंद्र मोदी सरकार पर ज’मकर निशा’ना साध रहे हैं। जी न्यूज़ की एक वीडियो बहुत वायरल हो रही है जिसमें आंदोलन में शामिल एक शख्स पीएम मोदी को मा’रने की ध’मकी दे रहा है। वो शख्स कह रहा है,’अगर मीटिंग में कुछ हल नहीं हुआ फिर हम बैरिकेड तो क्या इनको भी ढा देंगे। दिल्ली तो कुछ भी नहीं है हमारे लिए, जब इंदिरा ठो’क दी तो मोदी की छाती पर भी।’

इसे लेकर कल जी न्यूज़ पर सुधीर चौधरी ने डीएनए किया। सुधीर चौधरी ने डीएनए में कहा,’हजारों किसान इस समय देश की राजधानी दिल्ली की तरफ बढ़ रहे हैं। हम आपको एक बयान सुनाना चाहते हैं जिससे आपको आंदोलन में शामिल लोगों की मंशा का पता लगेगा। इस आंदोलन में शामिल एक व्यक्ति से उनकी रणनीति और रोडमैप के बारे में पूछा तो उस व्यक्ति ने धम’की दी जिससे लगता है इस आंदोलन में अब खालिस्तान की एंट्री हो चुकी है।’

सुधीर चौधरी ने आगे कहा,’यह बयान किसी किसान का तो नहीं हो सकता, किसी किसान की यह भाषा हो ही नहीं सकती। क्योंकि यह खालिस्तान की भाषा है।’ इसके बाद डीएनए में सुधीर चौधरी ने पंजाब के बरनाला के प्रदर्श’न की तस्वीरें दिखाई जिसमें लोगों के हाथ में भिंडरवाला की तस्वीर हैं।सुधीर चौधरी ने कहा,’जाहिर-सी बात है इस आंदोलन को आप किसानों का आंदोलन नहीं कह सकते, इस आंदोलन को अब राजनीतिक पार्टियों और खालिस्तानियों ने हा’ईजै’क कर लिया है।’

सुधीर चौधरी के इस बयान पर टि्वटर यूजर्स की तरह-तरह की प्रतिक्रिया सामने आ रही हैं। गुरनामरीतपाल नाम के एक यूजर ने लिखा है,’गोदी मीडिया वालों थोड़ी-सी श’र्म करो। किसान पिछले दो महीनों से ध’रने पर थे पंजाब में किसी को नु’कसान नहीं पहुंचाया गया। किसान अपना शांतिमय प्रदर्श’न कर रहे थे ,आपके खट्टर ने हरियाणा बार्डर सील किया वहीं खट्टर ने पुलिस से ला’ठीचार्ज करवाया, आंसू गैस के गोले छोड़े वो आपने नहीं दिखाया।’

योगेश शर्मा नाम के यूजर ने लिखा है,’किसानों द्वारा पूरी अरा’जकता। जेएनयू, भीमा कोरेगांव, दिल्ली दं’गे और किसानों का कानू’न को तो’ड़ना। वही दं’गा ब्रिगेड है।’ अब्दुल सत्तार शेख नाम की ट्विटर यूजर ने लिखा है,’हमारे किसानों को देश के दुश्मन के तौर पर पेश मत कीजिए। यह लोकतंत्र की ह’त्या है, कृपया हमारे किसानों को बचाइए,जय हिंद।’