सिंधिया की जनसभा में किसान ने द’म तो’ड़ा, मौ’त के बाद भी भाषण जारी रखने पर भ’ड़की कांग्रेस

मध्य प्रदेश में 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए इन दिनों जोर-शोर से राज्य के शीर्ष नेता प्रचार में जुटे हुए हैं, लेकिन इसी चुनावी सभा के दौरान खंडवा जिले के मंधाता विधानसभा सीट पर चुनावी सभा में एक आए एक किसान की मौ’त हो गई, जिस पर अब सियासत शुरू हो गई है. इस सभा में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) प्रत्याशी के पक्ष में सभा करने ज्योतिरादित्य सिंधिया पहुंचे थे.

दरअसल, मंधाता विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव में रविवार बीजेपी के स्टार प्रचारक ज्योतिरादित्य सिंधिया चुनावी सभा को संबोधित करने आए थे. सिंधिया के आने से पहले स्थानीय नेताओं के भाषण चल रहे थे. इसी दौरान जब पंधाना से बीजेपी विधायक राम दांगोरे भाषण दे रहे थे, तभी वहां तभी वहां मौजूद 80 साल के किसान जीवन सिंह की अचानक मृ’त्यु हो गई.

मौ’त के बाद भी भाषण जारी रहा

किसान की मौ’त होते ही आस-पास की कुर्सियों पर बैठे लोग ति’तर-बि’तर हो गए. हालांकि इसके बावजूद नेताओं का भाषण नहीं रुका.

थोड़ी देर बाद जनसभा में ज्योतिरादित्य सिंधिया भी पहुंच गए. हालांकि उनके आने से पहले श’व को वहां से ले जाया चुका था, लेकिन सिंधिया को जब किसान की मौ’त के बारे में पता चला तो उन्होंने श्र’द्धांज’लि देते हुए एक मिनट का मौन रखवाया और उसके बाद भाषण शुरू किया.

बताया जा रहा है कि जीवन सिंह बीजेपी के पुराने कार्यकर्ता भी थे. हालांकि सवाल उठ रहा है कि जब कोरो’ना के खत’रे को देखते हुए भी’ड़-भाड़ वाली जगहों पर बु’जु’र्गों के जाने पर मनाही है तो राजनीतिक सभा में 80 साल के बुजुर्ग को क्यों आने दिया गया.

कांग्रेस ने सा’धा निशा’ना
ज्योतिरादितय सिंधिया की सभा में किसान की मौ’त की अनदेखी कर सभा जारी रखने को लेकर अब राजनीति भी शुरू हो गई है. कांग्रेस इस बात को लेकर बीजेपी को आ’ड़े हाथ ले रही है कि एक किसान की मौ’त के बाद भी जनसभा को क्यों जारी रखा गया.

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ‘बीजेपी के कार्यक्रम में किसान की मौ’त, बीजेपी की भाषणबाजी फिर भी जारी रही, आज बीजेपी के कार्यक्रम में एक किसान की मौ’त हो गई, लेकिन बीजेपी के बे’श’र्म नेताओं ने कार्यक्रम नहीं रोका. किसान की ला’श पड़ी रही और बे’श’र्म भाजपाई ता’ली बजाते रहे. शिवराज जी, जनता से न सही, भगवान से तो ड’रो.