EVM के वायरल वीडियो को लेकर अखिलेश का बड़ा दावा: ‘नतीजों से पहले चोरी की साजिश, आज ईवीएम…’

समाजवादी पार्टी के मुखिया और उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की और बीजेपी पर बड़े आरोप लगाए.

उन्होंने दावा किया कि सीएम के सबसे बड़े अधिकारी, प्रमुख सचिव का जगह-जगह फोन जा रहा है कि जहां बीजेपी हारे वहां वहां काउंटिग स्लो (वोटों की गिनती धीरे) कीजिए. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आज बनारस में ईवीएम ले जाई जा रही थी. एक ट्रक पकड़ा गया, दो ट्रक लेकर भाग गए.

अखिलेश यादव ने कहा, “अगर सरकार वोट की चोरी नहीं कर रही थी तो बताए कि एक गाड़ी रोक ली, पकड़ी गई.. दो गाड़ियां क्यों भागी? अगर कोई चोरी नहीं थी तो प्रशासन ने सुरक्षा का इंतज़ाम क्यों नहीं किया. इतनी फोर्स है अभी.

अभी इलेक्शन की फोर्स गई नहीं है यूपी से. तो आखिरकार अधिकारी क्यों नहीं कर रहे थे(सुरक्षा). क्या वजह है कि बिना सुरक्षा इंतज़ाम के ईवीएम जा रहे थे.”

अखिलेश यादव ने कहा कि ईवीएम बिना प्रत्याशी को जानकारी दिए मूव (यहां से वहां) नहीं कर सकते हैं. अगर आपको इवीएम को मूव करना है तो कम से कम जो प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं.

उनकी जानकारी में होना चाहिए. उन्होंने कहा, “ये (बीजेपी) उसी दिन घबरा गए, जिस दिन अखबारों में कुछ जगह आया कि कहीं पार्क की सफाई हो रही है. कहीं घर की सफाई हो रही है.”

अखिलेश यादव ने अपनी पार्टी के लोगों से अपील करते हुए कहा, “मैं अपनी पार्टी के लोगों से कहूंगा कि जब तक काउंटिंग न हो जाए. तब तक कम से कम ये नज़र रखें और लगातार निगरानी रखें कि कैसे वोट बचाया जा सकता है.

कैसे जहां पर मशीने रखी हैं, वहां पर किसी का आना जाना न हो. ये लोकतंत्र के लिए बहुत ही खतरे का समय है. जो दल हार गया, अब उसके बस में यही है जो अब करने जा रहे हैं.”

प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले अखिलेश यादवा ने ट्वीट किया, “वाराणसी में EVM पकड़े जाने का समाचार उप्र की हर विधानसभा को चौकन्ना रहने का संदेश दे रहा है.

मतगणना में धांधली की कोशिश को नाकाम करने के लिए सपा-गठबंधन के सभी प्रत्याशी और समर्थक अपने-अपने कैमरों के साथ तैयार रहें. युवा लोकतंत्र व भविष्य की रक्षा के लिए मतगणना में सिपाही बने!”