दिल्ली में मुस्लिम विरोधी नारों पर ओवैसी ने कहा: ‘आखिर, इन गुंडों की हिम्मत का राज…’

दिल्ली में जंतर-मंतर पर रविवार को ‘भारत जोड़ो आंदोलन’ के तहत आ’योजित प्र’दर्शन में सैक’ड़ों लोग शामिल हुए। आंदोलन में मुस्लि’म विरो’धी नारेबा’जी की गई। इसको लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने आ’पत्ति जताते हुए कोई सवाल खड़े किए।

एआईएमआईएम प्रमुख ने ट्वीट करते हुए लिखा, “पिछले जुम्मे को द्वारका में हज हाउस के वि’रोध में एक ‘महापंचायत’ बुलाई गई। हस्ब-ए-रिवायत, इस पंचायत में भी मुसलमानों के खिला’फ पुर-तशद्दुद् नारे लगाए गए। जंतर मंतर मोदी के महल से महज 20 मिनट की दूरी पर है, ‘जब मु’ल्ले का’टे जाएंगे..’ जैसे घटि’या नारे लगाए गए।”

उन्होंने कहा, आख़िर, इन गुं’डों की बढ़ती हिम्मत का राज़ क्या है? इन्हें पता है कि मोदी सरकार इनके साथ खड़ी है। 24 जुलाई को भारत सरकार ने रासुका के तहत दिल्ली पुलि’स को किसी भी इंसान को हिरा’सत में लेने का अधिकार दिया था। फिर भी दिल्ली पुलिस चुपचा’प तमा’शा देख रही है।

ओवैसी ने कहा, ऐसे हालात बन चुके हैं कि इंसाफ और का’नूनी का’र्रवाई की मांग करना भी मजाक बन चुका है। लोकसभा में इस पर चर्चा होनी चाहिए, वजीर-ए-दाखला की जवा’बदेही होनी चाहिए। मैंने इस मुद्दे पर लोकसभा के रूल्स के मुताबिक स्थगन प्रस्ताव की नोटिस दी है।

बता दें कि जंतर मंतर पर इस विरो’ध प्रदर्शन की अगुवाई सुप्रीम कोर्ट के वकील और पूर्व बीजेपी प्रवक्ता अश्विनी उपाध्याय ने की थी। मामले में दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को बड़ा एक्शन लेते हुए वकील अश्विनी उपाध्याय को हिरासत में ले लिया है। अश्विनी उपाध्याय के अलावा विनोद शर्मा, दीपक सिंह, दीपक, विनीत क्रांति, प्रीत सिंह को भी हिरासत में लिया गया है, सूत्रों के मुताबिक, जल्द ही इन सभी को गिरफ्तार किया जा सकता है।

भारत जोड़ो आंदोलन की मीडिया प्रभारी शिप्रा श्रीवास्तव ने कहा कि अधिवक्ता और पूर्व बीजेपी प्रवक्ता अश्विनी उपाध्याय के नेतृत्व में प्रदर्शन हुआ था। हालांकि मुसलमान विरो’धी ना’रेबाजी करने वालों से उन्होंने किसी तरह के संबंध से इनकार किया है।

श्रीवास्तव ने कहा, “यह प्रदर्शन औपनिवेशिक कानूनों के खि’लाफ हुआ था और इस दौरान 222 ब्रिटिश कानूनों को निरस्त करने की मांग की गई। हमने वीडियो देखा है, लेकिन कोई जानकारी नहीं है कि वे कौन थे। पु’लिस को ना’रा लगाने वाले लोगों के खिला’फ क’ड़ी का’र्रवाई करनी चाहिए।”