दीपक चौरसिया का ट्वीट हुआ वायरल, रोहिंग्या मु’स्लिमों और मौ’लवियों पर कही ये बात

रोहिंग्या समुदाय के लोगों के भारत में अवै’ध रूप से शरण लेने और बसने को लेकर पिछले कई सालों से राजनीतिक विरो’ध हो रहा है। इसको लेकर कई बार हिं’सा की घटना’एं भी हुई हैं। वरिष्ठ पत्रकार दीपक चौरसिया ने सोशल मीडिया पर एक ट्वीट करके आरो’प लगाया है कि कुछ मौ’लवियों के मिलीभगत से हिं’दू बहुल जम्मू में रो’हिंग्या ब’साए गए हैं।

उनके इस ट्वीट पर कई लोगों ने उनको ट्रोल किया है। लोगों का कहना है कि दीपक का ट्वीट सरकार के प्रति उनके समर्थन काे प्रकट करता है और इससे उनकी पत्रकारीय निष्पक्षता पर सवाल ख’ड़े होते हैं। दीपक ने अपने ट्वीट में लिखा, “रोहिं’ग्या मु’स्लिमों को जानबू’झ कर जम्मू के हि’न्दू बहुल इलाकों में बसाया गया, मौलवियों, NGO, नेताओं की मिलीभगत से जम्मू में बसाए गए रोहिं’ग्या।”

सोशल मीडिया पर उनके ट्वीट के आते ही कई लोगों ने उनको ट्रो’ल करना शुरू कर दिया। गांधी मुकेश अग्रवाल @Mukesh4INC नाम के एक यूजर ने लिखा, “वह हमेशा पा’किस्तान और मु’स्लिम देशों की ही खब’रें दिखाता है और बताता है।” इसी तरह विक्रम @Gobhiji3

नाम के एक अन्य यूजर ने लिखा, “तो क’व्वे तेरे आका की सरकार है 7 साल से क्या घा’स छिल रहे है,रो’का क्यो नहीं, कश्मीर में भी तेरे आका के साथ वाली सरकार थी कुछ किया क्यो नहीं।” संपत शर्मा @SampatS18853775 नाम के एक यूजर ने एक वीडियो जारी कर लिखा, “सुनिये शां’तिप्रिय रोहिंग्या शरणार्थियों को इनका कहना है कि अगर इनको भारत से निकाला तो हि’न्दुओं और हिं’दुस्तान को मि’टा दें’गे, नये क़िस्म के शरणार्थी हैं, इनको भारत में बसाने के लिये कौन-कौन ल’ड़ रहा है, केजरी,प्रशांत ओवैसि कांग्रेस टु’कड़े गैं’ग,अर्बन न’क्सल”

बुल्ला @Bulla687again नाम के एक यूजर ने लिखा, “हर घर से अब्दुल निकलेगा,कागज़ दिखा।” अनिल चतुर्वदी @anilpricha नाम के यूजर ने लिखा, “वैसे तुम तो पा’किस्तानी जासू’स हो न चरसिया? सुना है पा’किस्तानी तुम्हें भारत में हि’न्दू-मु’स्लिम में वैमनस्य पै’दा करने के लिए मा’सिक भ’त्ता देते हैं। इसीलिए तुम ये सब करते हो।”


सौरभ सूर्यवंशी @saurabh221311 ने लिखा, “घु’सपैठिया रो’हिंग्या मु’स्लिमों को चुन चुन कर भ’गाया जा रहा है, इन रो’हिंग्या आ’तंकवादियों को कुछ राज्य बसा’ने का प्लान अभी भी कर रही है।” पंडित राजीव मौडगिल @MoudgilRajiv ने दीपक चौरसिया को जवाब देते हुए लिखा है कि, “कोई दे’श हित की भी बात कर लिया करो कभी,या सिर्फ चा’टूकारीता ही करनी है जिंदगी भर। देश लगभग बर्बा’दी की कगार पर पहुंच गया है,या तभी होश आएगा जब देश पूरी तरह से बर्बा’द हो जाएगा।”