सरकार ने बताया- क्यों अ’चानक भारत में तेजी से फैल रहा है कोरोना, दी ये चे’तावनी

भारत में मार्च 2021 के महीने से ही कोरोना वायरस में लगातार ते’जी देखी जा रही है। भारत में एक दिन में 19 मार्च को कोविड-19 के 39,726 नए मा’मले सामने आए। जो इस साल के अभीतक के सबसे ज्यादा आंकड़े हैं।

भारत में कोरोना वायरस से म’रने वालों की संख्या 1,59,370 हो गई है। इसी बीच केंद्र सरकार ने अपनी प्रारंभिक रिसर्च के बाद कहा है कि भारत में तेजी से ‘फैल रहे कोरोना वायरस के पीछे की वजह हा’ल के महीनों में की गई शादियां हो सकती हैं।सरकार ने शुरुआती आकलन के आधार पर कहा कि जब देश में कोरोना के मा’मले कम हो गए थे तो उन दिनों लोगों को उतना सर्तक और सावधान नहीं पाया गया था। कोरोना का सुपरस्प्रेडर होना देश में लॉकडाउन में राहत मिलने के बाद हुई शादियां भी हो सकती है।

नीति अयोग ने कहा- कोरोना को लेकर इस वक्त ला’परवाही ना करें हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार, नीति अयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने कहा है,”कोरोना के सुपरस्प्रेडर होने की वजह लोगों की कम सावधानी बरतने और लाप’रवाही हो सकती है। कोरोना के कम आंकड़े होता देख लोगों ने इसे उतनी गं’भीरता से नहीं लिया, जितना लॉक’डाउन के दौरान लिया था। हमें समझना चाहिए कि अभी भी आबादी का एक बड़ा वर्ग कमजो’र है, खासकर गांवों में। हम इस स्तर पर कोरोना से खुद के ब’चाव के उपायों को म नहीं कर सकते हैं। हमें कोशिश करनी है कि शादी, फंक्शन जैसे सामूहिक समारोह को ना करें और ना ही इसमें शामिल हों, यह एक सुप’रस्प्रेडिंग इवेंट बन सकता है।”

डॉ पॉल ने कहा कि देश के जिन जिलों में कोरोना के ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं उन्हे विशेष रूप से आरटी-पीसीआर जांच को बढ़ाने की आवश्यकता है। कुछ विशेषज्ञों ने यह भी कहा कि देश दूसरी कोविड-19 लहर के बीच में है और यह आने वाले हफ्तों में और भी अधिक कोरोना के मामले देखे जा सकते हैं।

नेशनल कोविड-19 टास्क फोर्स के संचालन अनुसंधान समूह के प्रमुख डॉ. एनके अरोड़ा ने CNBC TV18 को बताया कि हम कोरोना की दूसरी लहर के बीच में हैं। अगर वक्त रहते हमने सही और उचित कदम नहीं उठाए तो आने वाले 6-8 सप्ताह में 1,00,000 नए मामले देखने को मिलने लगेंगे।