CM योगी का आया बड़ा बयान, यूपी में कोरोना से लेकर पंचायत चुनाव पर कही ये बात

कोरोना की दूसरी लहर से सबसे अधिक प्रभावित राज्यों में से एक उत्तर प्रदेश में नए मा’मलों में कमी देखी जा रही है. हालांकि वैक्सीनेशन में कमी ने चिं’ता की लकीर खींच दी है. राज्य के सामने अब कोरोना की तीसरी लहर की चु’नौती है. इन सभी मु’द्दों पर आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एबीपी न्यूज़ से खास बातचीत की. सीएम ने कहा कि हमने कोरोना को काबू में किया है.

कोरोना काल में पंचायत चुनाव कराए जाने को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि चु’नाव सरकार नहीं करवाती है. यूपी में पंचायत चु’नाव हाई कोर्ट के आदेश पर कराए गए. एक साल के लिए टाला गया था. पंचायत चु’नाव ही कोरोना फै’लने का कारण नहीं हो सकता है.

आखिर महाराष्ट्र और दिल्ली में कोई चु’नाव नहीं थे, वहां भी रिकॉर्ड केस आए. जमीनी हकीकत जाने बिना इस तरह की बात कहना ठीक नहीं है. चु’नाव हर गांव में हुए. शहर से सटे गांवों में कोरोना के के’स देखे गए हैं. 68 फीसदी गांव है जहां को’रोना के के’स नहीं हैं. 32 फीसदी गांव में कुछ कोरोना के केस पाए गए है. तुकबं’दी के लिए बयान नहीं देना चाहिए.

उन्होंने कहा कि हर नागरिक को बचाना हमारी प्राथमिकता है. मैं लगातार राज्य का दौरा कर रहा हूं. कई जिलों का दौरा किया है. आईसीयू का निर्माण किया जा रहा है. जागरूकता के लिए काम किया जा रहा है.

उत्तर प्रदेश में तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयारियों पर सीएम योगी ने कहा कि किसी भी वा’यरस को रो’कने के लिए सतर्कता जरूरी है. सरकार इसके लिए लगातार जागरूकता अभियान चला रही है. पहली लहर की तुलना में दूसरी लहर में सं’क्रमण फैलने की दर अधिक है.

सतर्कता और सावधानी ने इसे कंट्रोल किया है. यूपी को लेकर कहा जाता था कि 25 अप्रैल के बाद यहां एक लाख केस प्रतिदिन आएंगे. सर्वाधिक एक्टिव के’स राज्य में होंगे, ये भी कहा जा रहा था. आज उत्तर प्र’देश में कुल 69 हजार एक्टिव के’स हैं.  सीएम योगी ने कहा कि एक जून से सभी जिलों में टीकाकरण शुरू किया जाएगा.