किसानों के प्रदर्श’न पर हरियाणा के CM ने झाड़ा पल्ला, इस राज्य को बताया जिम्मेदार

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manohar lal Khattar) ने किसान आंदोलन को लेकर अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि ये उनके राज्य के किसान नहीं है. विरो’ध प्रदर्श’नों के लिए पंजाब जिम्मेदार है. खट्टर ने हरियाणा पुलिस को संयम बरतने पर धन्यवाद दिया है. हालांकि हरियाणा पुलिस पर किसानों के ऊपर लाठीचार्ज करने और आंसू गैस के गोले छोड़ने को लेकर आलोचना हो रही है. उन्होंने पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) पर ह’मला बोला है.

किसान कृषि कानूनों के खि’लाफ आं’दोलन कर रहे हैं. पंजाब से हरियाणा (Haryana) होते हुए हजारों किसानों ने दिल्ली कूच किया था. लेकिन उन्हें जगह-जगह पर रोका गया. दो दिन तक चले टक’राव के बाद 27 नवंबर की शाम को दिल्ली पुलिस ने कि’सानों को बुराड़ी के निरंकारी ग्राउंड में विरो’ध प्रदर्श’न की इजाजत दी है.

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर (Manohar lal Khattar) ने किसानों के प्रदर्श’न के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) को जिम्मेदार बताया है. उन्होंने यह भी दा’वा किया कि पंजाब के मुख्यमंत्री का कार्यालय प्रदर्श’नों का नेतृत्व कर रहा है. खट्टर ने कहा, “पंजाब के किसान विरो’ध प्रदर्श’न कर रहे हैं, जबकि हरियाणा के किसान इससे दूर रहे हैं. इसके लिए उनका आभार है. पुलिस भी संयम बरत रही है. जबकि पंजाब के मुख्यमंत्री विरो’ध प्रद’र्शनों को हवा दे रहे हैं.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manohar lal Khattar) ने गुरुवार को भी ट्विटर पर अमरिंदर सिंह  (Amarinder Singh) पर नि’शाना साधा था. उन्होंने कहा था कि किसानों के आंदोलन को लेकर उन्होंने कई बार पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह से संपर्क का प्रयास किया, लेकिन उन्होंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

गौरतलब है कि कृषि कानू’नों को वापस लेने की मांग कर रहे किसान दिल्ली कूच करने के लिए आगे बढ़ रहे थे. हालांकि हरियाणा पुलिस ने उन्हें कई जगह रास्ते में रोका. पुलिस ने कई जगह बैरीकेड को कंटीले तारों से बांध रखा था, साथ ही बालू से लदे ट्रक भी ख’ड़े किए गए थे. कई जगहों पर सड़कों पर खाईं खोदी गई थीं. कई जगह तस्वीरों को देखकर युद्ध जैसा नजारा लग रहा था.