सुशांत केस : जांच के लिए मुंबई आए पटना एसपी को BMC जब’रन किया क्वारंटीन, ठहरने की जगह भी नहीं दी

सुशांत सिंह राजपूत के’स की जां’च करने के लिए मुंबई पहुंचे पटना एसपी बिनय तिवारी को बीएमसी के कर्मचारियों ने जब’रन क्वारंटीन कर दिया। उन्हें ठहरने के लिए आईपीएस मेस में जगह भी नहीं दी गई। यह जानकारी बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने दी है। उन्होंने पूरे घ’टनाक्रम पर क’ड़ी ना’राजगी जताई है।

गुप्तेश्वर पांडे ने ट्वीट कर कहा ‘बिनय तिवारी के’स की जांच कर रहे पु’लिस क’र्मियों को लीड करने के लिए आज ही पटना से मुंबई पहुंचे थे। रविवार की रात 11 बजे उन्हें बीएमसी क’र्मियों ने जबर’दस्ती क्वारंटीन कर दिया। उन्हें रिक्वेस्ट के बावजूद आईपीएस मेस में ठहरने को जगह नहीं मिली। इसके बाद वे गोरेगांव के एक गेस्ट हाउस में रुके थे।’

आपको बता दें कि सुशांत केस में उनके परिवार द्वारा रि’या चक्रवर्ती के खिला’फ पटना में ए’फआ’इआर द’र्ज कराने के बाद बिहार पुलिस मा’मले में जां’च करने में जुटी है। इससे पहले पटना से कुछ पु’लिसकर्मी जांच के लिए मुंबई पहुंचे थे, जहां मुंबई पु’लिस द्वारा उनके साथ सहयोग न करने की खबरें सामने आई थीं। बिहार के पु’लिस कर्मियों के साथ ध’क्का-मु’क्की और दुर्व्यव’हार की रिपोर्ट भी सामने आई। पुलिस क’र्मियों को जांच के लिए गाड़ी तक नहीं उपलब्ध कराई गई। इसके बाद पटना एसपी बिनय तिवारी को मुंबई भेजा गया था।

आपको बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत की मौ’त के मा’मले में उनके परिवार ने रि’या चक्र’वर्ती के खिला’फ पटना में एफ आ’ईआ’रदर्ज कराई है। 7 पन्नों की इस FIR में सु’शांत को सु’सा’इड के लिए उ’क’साने से लेकर धो’खाध’ड़ी तक का आ’रोप लगाया गया है। सुशांत के पिता के मुताबिक रि’या चक्रवर्ती से मिलने के बाद सुशांत पूरी तरह बदल गए थे। उन्हें परिवार से भी मिलने नहीं दिया जाता था।

उधर, मुंबई पहुंची बिहार पुलिस की जांच में अभी तक यह निकल कर सामने आया है कि सुशांत सिंह राजपूत जो सिम यूज कर रहे थे उनमें से एक भी उनके नाम पर नहीं था। हां, एक सिम उनके दोस्त के नाम पर जरूर था। ऐसे और तमाम सबू’त बिहार पुलिस के हाथ लगे हैं जिनकी छा’नबीन की जा रही है।