लेबनान : परमाणु ब’म जैसे ध’माके से दहला शहर, सूत्रों केअनुसार ये है वि’स्फ़ोट की वजह

लेबनान की राजधानी बेरूत में 2,750 टन अमोनियम नाइट्रेट में हुए भीष’ण व‍िस्‍’फो’ट के बाद बेरूत बंदरगाह पूरी तरह से खं’डहर में तब्‍दील हो गया। बंदरगाह पर हर तरफ ला’शें और तबा’ही का खौ’फ’नाक मं’जर नजर आया। पूरे बेरूत शहर की गलियां धु’एं से भर गईं और गाड़ियों के शीशे और इमारतों की खिड़कियां चकनाचूर हो गईं। अब तक कम से कम 73 लोगों की इस हा’दसे में मौ’त हो गई है और 3700 से ज्‍यादा लोग घा’यल हैं। बेरूत व‍िस्‍’फो’ट की तीव्रता इतनी ज्‍यादा थी कि लोगों को हिरो’शिमा में हुए पर’माणु ब’म हम’ले की याद आ गई। आइए देखते हैं बेरूत में तबा’ही का मं’जर…

बेरूत में बुधवार दोपहर को पोर्ट इलाके के पास भ’या’नक विस्‍’फोट हुए। ये विस्‍’फो’ट इतने भया’नक थे कि लगा जैसे कोई पर’माणु ब’म धमा’का हुआ हो। विस्‍’फो’ट की वजह से जमीन भी कं’प’कं’पा गई और ऐसे लगा भी’षण भू’कंप आया हो। इस भी’षण हा’दसे के जो वीडियो सामने आए हैं वे दिल दहला देने वाले हैं। पहले गुलाबी धुएं का ऊंचा सा गुबार पूरे आसमान में फैल गया और फिर जोरदार धमा’के के साथ तबा’ही म’च गई। विस्‍फोट ने जो रास्ते में आया, उसे अपनी जद में ले लिया। रिपोर्ट्स की मानें तो कम से कम 10 किमी दूर तक के घरों को भारी नुकसान पहुंचा है।

हर तरफ ला’शें, ब’दह’वास दौड़ रहे थे लोग

बंदरगाह पर विस्‍’फोट के बाद हर तरफ जमीन पर ला’शें ही ला’शें दिखाई दीं। घ’टना के बाद ब’दह’वास लोग चीख’ते-चिल्ला’ते सड़कों पर दौड़ रहे थे। कोई वहां घा’यल होकर खू’न से ल’थप’थ गिर गया तो कोई दूसरों को संभालने में जुटा था। आसपास की इमारतों से पूरी-की-पूरी बालकनी उख’ड़ गईं। गगनचुंबी इमारतें जमींदोज हो गईं।

इन इमारतों के नीचे भी बड़ी संख्या में लोगों के दबे होने की आशंका है। हा’दसे के फौरन बाद ऐंबुलेंस लोगों को अस्पताल ले जाने के लिए दौड़ने लगीं और दमकलकर्मी जगह-जगह लगी आ’ग को बुझाने में जुट गए। एक प्रत्यक्षदर्शी का कहना है तबा’ही का मं’जर ऐसा था जैसे कया’मत आ गई हो।

अस्पताल भरे, राष्ट्रपति ने बुलाई आ’पा’त बैठक

कई सालों में पहली बार इतनी भया’नक घ’टना होने पर लेबनान के राष्ट्रपति माइकल आउन ने सुप्रीम डिफेंस काउंसिल की मीटिंग बुलाई। देश के स्वास्थ्य मंत्री हमाद हसन ने बताया है कि अब तक 73 लोग मा’रे गए हैं लेकिन म’रने वालों की तादाद काफी बढ़ सकती है। हसन ने बताया है कि बेरूत शहर में भारी नु’कसान भी हुआ है। ध’माके की वजह से बेरूत के अस्‍पताल भर गए। हालत यह हो गई कि कई घा’यलों का कॉरिडोर के अंदर इलाज किया गया। लेबनान के रेडक्रॉस ने लोगों से अपील की है कि वे तभी अस्‍पताल जाएं जब बहुत जरूरी हो।

2,750 ट’न अमोनि’यम ना’इट्रेट में हुआ विस्‍’फो’ट

द नैशनल काउंसिल फॉर साइंटिफिक रिसर्च ने कहा कि यह भी’षण ध’मा’का अमो’नियम नाइ’ट्रेट की वजह से हुआ जो एक वेयर हाउस के अंदर रखा हुआ था। बताया जा रहा है कि वेयर हाउस के अंदर 6 साल से 2,750 टन अमोनियम नाइट्रेट रखा हुआ था।

इसका इस्‍तेमाल खाद बनाने में किया जाना था। लेबनान के राष्‍ट्रपति माइकल आउन ने ट्विटर पर लिखा कि बिना सुरक्षा इंतजाम के 2,750 टन अमोनियम नाइट्रेट रखने वालों के खिला’फ क’ठोर कार्र’वाई होगी। इस विस्‍’फोट में जो लोग मा’रे गए हैं, उनमें कतीब पार्टी के महासचिव निजार नजरियान भी शामिल हैं। निजार के पार्टी का मुख्‍यालय बेरूत बंदरगाह के ठीक सामने ही था।