बीजेपी विधायक ने निका’ली यूपी पु’लिस पर भ’ड़ास कहा- अप’राधियों की तरह अब विधायकों को भी छोड़ना पड़ेगा उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश में बीजेपी विधायकों और पु’लिस अधि’कारियों के बीच त’नातनी के कई मामले सामने आ रहे हैं। इसे लेकर पार्टी विधायकों में ना’रा’जगी देखी जा रही है। कई भाजपा विधायकों ने अपनी ना’राजगी जाहिर करने के लिए सोशल मीडिया का स’हारा लिया है। एक विधायक ने अपनी फे’सबुक पोस्ट में लिखा है कि “अप’राधियों की तरह अब विधायकों को भी उत्तर प्रदेश छोड़ना पड़ेगा।”

बता दें कि हाल ही में इगलास से भाजपा विधायक राजकुमार सहयोगी और गोंडा था’ने के इंचार्ज अनुज कुमार के बीच झ’ड़प का मा’मला सामने आया था। जिसमें विधायक ने एसएचओ पर उनके साथ मा’र’पीट करने का आ’रोप लगाया था। इसके बाद अलीगढ़ से सांसद सतीश गौतम ने इसके खिला’फ समर्थकों के साथ थाने के बाहर ध’रना प्र’दर्शन भी किया था। सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस मा’मले में का’र्रवाई करते हुए एसएचओ पर सस्पें’ड कर दिया था और एसपी (ग्रामीण) का तबादला कर दिया था।

अब गोरखपुर से भाजपा विधायक आरएमडी अग्रवाल ने यूपी पु’लिस के खिला’फ सोशल मीडिया पर अपनी ना’राजगी जाहिर की है। अग्रवाल ने लखीमपुर में हुए एक म’र्डर ‘के’स में पु’लिस द्वारा कोई कार्र’वाई नहीं किए जाने पर ना’राजगी जाहिर की है। इकोनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, इस मा’मले में 25 जून को इस मामले में शि’कायत दर्ज करायी गई थी। भाजपा विधायक ने कहा कि उन्होंने यू’पी के अतिरिक्त मुख्य सचिव अविनाश अवस्थी और यूपी डीजीपी एचसी अवस्थी को भी फोन किया लेकिन दोनों ने ही उनकी कॉल का जवाब नहीं दिया।

ईटी के साथ बातचीत में अग्रवाल ने ना’राजगी जा’हिर करते हुए कहा कि यदि ये मान’सिकता वरिष्ठ अधिकारियों की है तो फिर निचले स्तर पर पु’लिस अधिकारियों की मा’नसिकता का सा’फ अंदाजा लगाया जा सकता है।

अग्रवाल की तरह ही गोपामऊ के भाजपा विधायक श्याम प्रकाश ने भी फेसबुक पर विधायकों के उत्तर प्रदेश छो’ड़ने की बात लिखी है। हाल ही में बाग’पत के पूर्व जिलाध्यक्ष की गो’ली मार’कर ह’त्या कर दी गई थी। इस मा’मले में भी भाजपा नेताओं का आ’रोप है कि पु’लिस कुछ नहीं कर रही है। बागपत से भाजपा विधायक मुकेश धामा और सांसद सत्यपाल सिंह ने भी पु’लिस के कामकाज को लेकर ना’राजगी जाहिर की है।