नाथूराम गोडसे को महान देशभक्त बताकर BJP नेता ने दी श्रद्धांजलि, हुआ हं’गामा

महात्मा गांधी की ह’त्या करने वाले नाथूराम गो’डसे (Na’thu’ram God’se) को फां’सी दिए जाने के दिन बीजेपी के कुछ नेताओं ने श्र’द्धां’जलि वाले मेसेज पोस्ट किए तो ट्विटर पर एक बार फिर गांधी बनाम गोडसे (Nathuram Godse and Mahatama Gandhi) की बहस छि’ड़ गई। सोश’ल मीडि’या पर बीजेपी के नेता रमेश नायडू नागोठू की एक पोस्ट के बाद लोगों ने बीजेपी पर सवाल उठाए तो कई ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया। सोशल मीडिया पर इस बहस का असर ये रहा कि काफी देर तक नाथूराम गोडसे से जुड़ी पोस्ट ट्विटर की ट्रेंड लिस्ट में बनी रही।

इतिहास के मुताबिक, नाथूराम गोडसे ने 30 जनवरी 1948 को दिल्ली में महात्मा गांधी को गो’ली मा’र दी थी। गोडसे को महात्मा गांधी की ह’त्या के जु’र्म में 8 नवंबर 1949 को फां’सी की स’जा सुनाई गई थी। इसके बाद हरियाणा की अंबाला जे’ल में गोडसे को 15 नवंबर 1949 को फां’सी दे दी गई थी।

कई लोगों ने गोड’से को कहा देशभक्त

रविवार को 15 नवंबर के दिन तमाम लोगों ने गोडसे को ट्विटर पर देशभक्त बताते हुए अपने ट्वीट पोस्ट किए। वहीं महात्मा गांधी के समर्थकों ने गोडसे को देशभक्त बताया।

बड़ी बात ये कि गोडसे को श्रद्धांजलि देने वाले लोगों में बीजेपी के कई नेता भी शामिल रहे, जिसमें रमेश नायडू जैसे वरिष्ठ नेता भी थे। नायडू तेलंगाना में बीजेपी के शीर्ष नेताओं में एक रहे हैं और वह यहां प्रदेश युवा मोर्चा के अध्यक्ष भी रहे हैं। हालांकि बाद विवा’द होने पर उन्होंने अपना ट्वीट तो डिलीट कर लिया, लेकिन ट्विटर पर गांधी बनाम गोडसे की बहस जारी रही।

बीजेपी और पीएम मोदी पर उठे सवाल

रमेश नायडू की पोस्ट पर ही प्रतिक्रिया देते हुए कुछ लोगों ने उनकी आलो’चना की, वहीं कुछ ने बीजेपी पर गांधी विरो’ध का आ’रोप लगाते हुए सवाल उठाए। ट्विटर के ही कुछ यूजर्स ने बीजेपी और प्रधानमंत्री मोदी पर सवाल उठाते हुए कहा कि पीएम मोदी खुद तो महात्मा गांधी के नाम पर तमाम योजनाओं और स्मारकों की शुरुआत कर उनकी विचारधारा को सही बताते हैं। वहीं बीजेपी के लोग गांधी की ह’त्या करने वाले लोगों को देशभक्त बताते हुए उन्हें श्र’द्धांजलि दे रहे हैं।