असम चुनाव से पहले बदरुद्दीन अजमल का बड़ा बयान, कहा- हमारा म’कसद केवल BJP को…

असम में विधानसभा चु’नाव 27 मार्च से तीन चरणों में होने जा रहा है. सभी राजनीतिक दल अपनी रणनीतियों को मजबूत करने में जु’ट गए हैं. जिसके लिएसभी पार्टिया अपनी खास तैयारियां करने में लगी है.साथ ही आगामी विधानसभा चु’नाव को लेकर राजनीति दलों ने अपनी कमर क’स ली है.

इस दौरान AIUDF ने अपनी पार्टी की तैयारियों के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि हमारा मक’सद केवल बीजेपी को राज्य में मा’त देना है. ऐसे में ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट के नेता बदरुद्दीन अजमल ने कहा कि असम में गठबंधन और सीट शेयरिंग का मु’द्दा नहीं है।

उन्होंने कहा, असम में बीजेपी की विदाई ही हमारा प्रमुख लक्ष्य है उन्होंने आगे कहा,’ हमारे लिए सीएए बहुत बड़ा मु’द्दा है और अं’त तक हम लोग इसके खि’लाफ ल’ड़ाई को जारी रखेंगें. साथ ही उन्होंने भरोसा जताते हुए कहा कि वह जब सत्ता में आएंगे तो सुनिश्चित करेंगे कि डी-वो’टर की समस्या समाप्त हो जाए।

बदरुद्दीन अजमल का इतिहास असम की राजनीति में 2005 से शुरू होता है. 2005 में ही मौलाना बदरुद्दीन ने ‘असम यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट’ की स्थापना की थी.

वर्ष 2006 के विधानसभा चु’नावों में बदरुद्दीन अजमल ने पहली बार कोशिश की और 10 विधानसभा सीटों पर जीत मिली. बदरुद्दीन 2006 की विधानसभा चु’नाव में उतरे और एक साथ दो सीटों पर चु’नाव ल’ड़ा और जीता. यहीं से असम में लोग बदरुद्दीन का लोहा मानने लगे और धीरे-धीरे उन्होंने पूरे असम के मु’सलमानों में अपनी पक’ड़ बना ली.

वहीं 2014 के लोकसभा चु’नावों में जब पूरा देश मोदी लहर में बह रहा था तब भी बदरुद्दीन की पार्टी असम के तीन लोकसभा सीटों पर जीत गई. बता दें कि असम में 27 मार्च से तीन चरणों में विधानसभा चु’नाव होने हैं. 2 मई को चु’नाव के नतीजे सामने आएंगे.