आज़म खान की सेहत को लेकर आई बड़ी ख़बर, कोरोना रिपोर्ट हुई नेगेटिव मगर हालत अभी भी…

समाजवादी पार्टी सांसद आजम खान की कोविड-19 रिपोर्ट नेगेटिव आ गई है लेकिन उनकी हालत अभी भी गंभीर है। वह लखनऊ के मेदांता अस्पताल में ऑक्सिजन सपोर्ट पर हैं। आजम खान पोस्ट कोविड फाइब्रोसिस और फेफड़ों में कैविटी से पी’ड़ित हैं। उनकी किडनी में भी इंफेक्शन है। आजम 1 मई से यहां भर्ती हैं।

अस्पताल की ओर से जारी स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, 72 वर्षीय आजम खान के स्वास्थ्य में सोमवार को सुधार दिखा, लेकिन वह अस्पताल की क्रिटिकल केयर टीम की निरंतर देखभाल में है। आजम और उनके 30 वर्षीय बेटे मोहम्मद अब्दुल्ला 30 अप्रैल को कोविड 19 पॉजिटिव पाए गए थे और 1 मई को लखनऊ के मेदांता में भर्ती कराया गया था, तब से उनका इलाज चल रहा है।

अब्दुल्ला की रिपोर्ट पहले ही निगेटिव आ चुकी है और वार्ड में चिकित्सा निगरानी में हैं। इस बीच, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) के कार्यकारी सदस्य जफरयाब जिलानी को मंगलवार को मेदांता अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी। 20 मई को सिर में चो’ट लगने के बाद वरिष्ठ अधिवक्ता के म’स्तिष्क में रक्त के थ’क्के जम गए थे।

थक्के के लिए उनका ऑपरेशन किया गया था और उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था। अस्पताल ने कहा, ‘जफरयाब जिलानी की हा’लत स्थिर है और उनमें सं’तोषजनक सुधार दिख रहा है। उन्हें मंगलवार को छु’ट्टी दे दी जाएगी।’

वरिष्ठ अधिवक्ता जफरयाब जिलानी डिस्चार्ज

वहीं, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सचिव एवं वरिष्ठ अधिवक्ता जफरयाब जिलानी को मंगलवार दोपहर बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है। अधिवक्ता जिलानी 20 मई को घर में बे’होश हो गए थे। मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। जहां उनके ब्रेन में खून के थक्के जमे हुए पाए गए। सर्जरी विभाग की टीम ने सर्ज’री कर खू’न के थक्के को ह’टाया। इस दौरान वह वेंटिलेटर पर रहे। उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट भी पॉजिटिव पाई गई थी। करीब सप्ताह भर बाद रिपोर्ट निगेटिव आई। मंगलवार को उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है।