आ’युष मं’त्रालय का प’तं’जलि को दो टु’क जवाब : कोरो’ना की दवा नही कोरो’निल, पर इस चीज़ से ह’टाई पा’बं’दी

हाल ही में प’तं’ज’लि की तरफ से दावा किया गया था कि हर्बल मेडिसिन कंपनी ने को’रो’निल नामक दवाई बनाकर को’रो’ना का इ’लाज ढूं’ढ़ लिया है. कंपनी अब अपनी बात से मु’कर गई है. प’तं’जलि आ’युर्वेद  का कहना है कि को’रो’निल COVID-19 को मैनेज करने का प्रोडक्ट है. वहीं आ’यु’ष मं’त्रालय () ने को’रो’निल की बि’क्री पर ल’गी पा’बं’दी को ह’टा लिया है.

समाचार एजेंसी पीटीाई के मुताबिक आ’युष मं’त्रा’लय का कहना है कि पतं’जलि इस प्रोडक्ट को को’रो’ना की दवा’ई की तरह तो नहीं मगर इ’म्यु’निटी बू’स्ट’र के तौर पर बेच सकती है. मं’त्रा’लय ने बताया कि इस खास फॉम्यु’लेशन को इम्यु’निटी बढ़ाने के लिए बे’चे जाने की अनुमति है.

बा’बा रा’म’देव ने हरि’द्वा’र में की प्रेस कॉन्फ्रेंस

वहीं बा’बा रा’म’देव ने हरिद्वार में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए को’रो’निल का गु’णगा’न किया. उन्होंने कहा कि को’रो’ना वा’यर’स से नि’पटने के लिए प’तं’ज’लि ने अच्छा काम किया है. को’रो’निल की बिक्री पर कोई पा’बं’दी नहीं है. पतंजलि ने को’रो’नि’ल के साथ दो प्रोडक्ट और प्रमोट किए हैं, जोकि देशभर में एक किट में उपलब्ध होंगे.

आ’यु’ष मं’त्रा’लय ने मां’गी थी जान’का’री

इससे पहले सरकार ने बा’बा रा’म’दे’व  के दवा बनाने के दा’वे के बाद विज्ञा’पनों को तुरंत रो’कने के साथ ही पूरी जानकारी मांगी थी. केंद्र सरकार के आ’यु’ष मं’त्रा’लय ने इस पर जां’च भी बैठा दी और द’वा की जांच होने तक ‘को’रो’निल के वि’ज्ञा’पन पर रोक लगा दी. आ’युष मंत्रा’लय ने बा’बा रा’म’दे’व की कंप’नी से दवा के बारे में पूरी जानकारी उपलब्ध कराने को कहा था. मं”त्रालय ने पूछा था कि उस हा’स्पिटल और साइट के बारे में भी प’तं’जलि बताएं, जहां दवा की रिस’र्च हुई. वहीं उत्तराखंड सरकार से भी इस आ’युर्वे’दिक दवा के लाइ’सें’स आदि के बारे में जान’कारी मां’गी थी.