असम में प्रियंका गांधी का बड़ा बयान- कांग्रेस अगर सत्ता में आई तो CAA…

असम विधानसभा चु’नाव को लेकर राज्य में राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है. सभी दल राज्य के वो’टरों को अपने-अपने पक्ष में रिझाने के लिए हर संभव कोशिश में जुटे हुए हैं. कांग्रेस की ओर से लगातार इसका प्रयास किया जा रहा है कि किसी भी तरह राज्य में मौजूदा बीजेपी की सरकार को उखा’ड़ फेंका जाए.

इसके लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मोर्चा संभाल लिया है. असम के तेजपुर में एक रैली के दौरान प्रियंका ने बीजेपी पर हम’ला बोला और कहा कि अगर राज्य में कांग्रेस की सरकार बनती है तो हम नागरिकता संशो’धन कानू’न नहीं लागू होने देंगे.

रैली को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा, ”हम ऐसा कानू’न बनायेंगे जिससे C’AA यहां लागू नहीं होगा.” इस दौरान प्रियंका गांधी ने बीजेपी सरकार की ओर से किए गए वा’दों को याद दिलाते हुए कहा कि मौजूदा सरकार आपसे किए हुए वादे पूरे नहीं किए और आपकी पहचान पर भी हम’ला किया.

रैली के मंच से प्रियंका गांधी ने कई अहम वादे भी किए. उन्होंने कहा कि हम वादा नहीं कर रहे हैं बल्कि आपको गारं’टी दे रहे हैं. ये गा’रंटी आपके भविष्य को बेहतर बनाने के लिए हैं. असम की गृहणियों को लेकर बड़ी घोषणा करते हुए प्रियंका ने कहाच, ”कांग्रेस की सरकार आने पर गृहणियों को प्रति माह 2000 रू गृहणी सम्मान राशि के रूप में दी जाएगी.”

युवाओं के लिए रोजगार

रैली के मंच से युवाओं को लुभाने के लिए प्रियंका गांधी ने कहा, ”कांग्रेस की सरकार बनते ही बिजली के 200 यूनिट तक कोई चार्ज नहीं लगेगा जिससे हर महीने 1400 रू की बचत होगी. हम चाय के बागान के श्रमिकों को प्रति दिन 365 रू का पारिश्रमिक देंगे. हम युवाओं को 5 लाख रोजगार देंगे.”

बता दें कि असम में विधानसभा चु’नाव की घोषणा के बाद प्रियंका गांधी राज्य के दो दिवसिय दौरे पर गई हुई हैं और रैलियों के जरिए बीजेपी पर हम’ला बोल रही हैं साथ ही वो’टरो को लुभाने की हर संभव कोशिश कर रही हैं. प्रियंका गांधी की कोशिश है कि चु’नावों में ज्यादा से ज्यादा सीट जीतकर राज्य में कांग्रेस की सरकार बनाई जाए.

असम में कब है चु’नाव

बता दें कि असम में विधानसभा के लिए तारीखों का एलान कर दिया गया है. चु’नाव आयोग के मुताबिक, विधानसभा की 126 सी’टों पर तीन चरणों में वो’ट डाले जाएंगे. पहले चरण के लिए 27 मार्च को वो’टिंग होगी. 2 मई को वो’टों की गिनती होगी. असम में 33 हजार मतदान केंद्र होंगे. राज्य में पिछले चु’नावों की तुलना में करीब 30 फीसदी मतदा’न केंद्र बढ़ाए गए हैं.