असम चु’नाव: बीजेपी नेता की कार में मिली EVM मशीन, वीडियो वा’यरल, प्रियंका बोलीं- EC करे…

असम में गुरुवार को विधानसभा चु’नाव के दूसरे चरण के मतदान के बाद एक निजी कार में ईवीएम पाये जाने के बाद वि’वाद खड़ा हो गया है। इस घ’टना का एक वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वा’यरल हो रहा है। इस वीडियो में देखा जा सकता है कि एक कार में ईवीएम मशीन रखी है। वीडियो वायरल होने के बाद ईवीएम को लेकर सि’यासत एक बार फिर ग’रमा गई है।

यह कार असम के पथरकंडी विधानसभा सीट के बीजेपी उम्मीदवार कृष्‍णेंदु पॉल की बताई जा रही है। सफ़ेद रंग की इस बोलेरो कार का नंबर AS10 B 0022 है और इसमें एक ई’वीएम रखी हुई है। असम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने ईवीएम मिलने की घ’टना पर चु’नाव आयोग से इस मा’मले में तुरंत का’र्रवाही करने की मांग की है। इसके अलावा कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी ट्वीट कर चु’नाव आयोग से क’ड़ी का’र्रवाई करने की मांग की है।

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा “हर बार निजी गाड़ियों में ईवीएम ले जाने के वीडियो सामने आते हैं, उनमें कुछ चीजें कॉमन हैं। निजी गाड़ियां बीजेपी उम्मीदवारों और उनके सहयोगियों की होती हैं। वीडियो को घ’टना बताकर खारिज कर दिया जाता है। बीजेपी अपने मीडिया तंत्र का इस्तेमाल उन लोगों पर आरो’प लगाने के लिए करती है, जिन्होंने वीडियो को उ’जागर किया। तथ्य यह है कि इस तरह के कई मा’मले सामने आ रहे हैं, लेकिन इनके बारे में कुछ नहीं किया जा रहा है।”


कांग्रेस महासचिव ने एक अन्य ट्वीट में आगे लिखा “चु’नाव आयोग को इन शि’कायतों पर निर्णायक रूप से का’र्रवाई करने और ईवीएम से जुड़े मा’मलों के पुनर्मूल्यांकन की जरूरत है। सभी राष्ट्रीय दलों को इन मा’मलों पर ध्यान देना चाहिए।” प्रियंका ने इसके साथ वा’यरल हो रहे उस वीडियो को भी शेयर किया है।

गुरुवार को असम की 39 सीटें पर मतदान हुए। इस दौरान 73.45 लाख मतदाताओं में से 74.69 प्रतिशत ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। राज्य की जिन 39 सीटों पर वो’ट डाले गए उनमें 26 महिलाओं सहित 345 प्रत्याशी चु’नाव मैदान में हैं।

इसके अलावा कई मतदान केन्द्रों में ईवीएम में ग’ड़बड़ी की बात भी सामने आई थी। चुनाव आयोग के एक शीर्ष अधिकारी के अनुसार सुबह के समय करीमगंज, कछार, कार्बी आंग्लॉन्ग, होजई, नागांव, मोरीगांव, दरिवा जिलों के कुछ मतदान केंद्रों से ईवीएम की ग’ड़बड़ी की खबरें आई थीं, लेकिन इसे ठीक करा दिया गया और फिर निर्बा’ध रूप से मतदान जारी रहा।