किसान आं’दोलन पर डिबेट शो में बोले अर्णब गोस्वामी- अब बहुत हो गया, प्रण लें कि…

तीन कृषि कानू’नों के खि’लाफ किसानों का आंदोलन जारी है। कई दिनों से चल रहे किसान आं’दोलन के बीच कई बार ऐसी भी खबरें आईं कि इस आंदोलन के दौरान राजद्रोह के आरो’प में गि’रफ्तार किये गये शरजील इमाम, उमर खालिद समेत कई आरो’पियों के पोस्टर और उनकी रिहाई की मांग वाली तस्वीरें वायरल हुईं। यह भी कहा गया है कि किसानों के आंदोलन में ‘टु’कड़े-टु’कड़े गैं’ग’ अपने लिए अस्तित्व तला’श रहा है।

इसी विषय पर ‘Republic Tv’ पर आयोजित डिबेट शो के शुरुआत में एंकर अर्णब गोस्वामी ने कहा कि ‘इन लोगों ने किसान आं’दोलन को हाइजै’क कर पूरी राजधानी को बंधक बनाने की कोशिश की। मैं कहता हूं कि अब बहुत हो गया। आप भी हाथ जोड़ कर इन देश विरो’धियों को कहिये कि बहुत हो गया। अब हमें प्रण लेना होगा कि हम इस अरा’जकता गैं’ग को जीतने नहीं देंगे।

अब तक रिपब्लिक भारत अकेले इन लोगों से ल’ड़ रहा है। नए साल पर मैं इसलिए मैं आपसे कह रहा हूं क्योंकि मैं आप लोगों के साथ मिलकर ल’ड़ना चाहता हूं…आप हमारे साथ इस ल’ड़ाई में जुड़ जाइए। हर हा’ल में आपको औऱ हमे मिलकर इन लोगों को हरा’ना है और 2021 को इनके चंगुल से बचाना है।’

शो के दौरान अर्णब गोस्वामी ने कहा कि ‘आखिर यह देश इस टु’कड़े-टु’कड़े गैं’ग की सा’जिश को कब तक सहेगा? अराजक गैंग को हम इस देश में क्यों पलने दें…जो लोग देश के खि’लाफ सोचते हैं वो देश का भला कैसे सोच सकते हैं? इधर इससे पहले दिल्ली के विभिन्न बॉर्डरों पर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने शुक्रवार को कहा कि मोदी सरकार किसानों को शाहीन बाग के प्रदर्श’नकारियों की तरह समझती है जिन्हें वे ह’टाने में सफल रही थी। पर ऐसा होने वाला नहीं है। भारतीय किसान यूनियन के युद्धवीर सिंह ने कहा, ”ऐसा लगता है जैसे सरकार किसानों को हल्के में ले रही है।

सरकार शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को ह’टाने में सफल रही थी, हमारे साथ भी सरकार ऐसा करना चाह रही है। पर ऐसा दिन कभी आने वाला नहीं है। अगर सरकार ने 4 जनवरी को कोई फैसला नहीं लिया तो फिर किसानों को ही फैसला करना होगा।”