अमित शाह का भांजा बनकर BJP विधायक से ठ’गी करने वाला हुआ गि’रफ्तार

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का भांजा विराज शाह बनकर एक युवक ने आगरा के एक बीजेपी विधायक से 40 हजार रुपये ठ’गने की कोशिश की. लेकिन विधायक ने उसकी असलियत का पता लगाकर उसे पु’लिस को सौंप दिया. इस ठग की पहचान गांधी नगर निवासी यश अमीन के रूप में हुई है. वह 2016 में उज्जैन के विधायक डॉक्टर मोहन यादव से ठ’गी के आरो’प में जेल भी जा चुका है.

आगरा दक्षिण के योगेंद्र उपाध्याय ने बताया कि यश अमीन ने चार दिन पहले फोन कर कहा था कि वह अमित शाह का भांजा विराज शाह बोल रहा है.

आगरा में तीन-चार होटल बिकने वाले हैं, उसे एक खरीदना है, उसे सिर्फ इतनी मदद चाहिए कि होटल मालिकों से उसकी मुलाकात करा दें. इसके बाद उसने पांच बार फोन किया. हर बार यही कहा कि वह आगरा आने वाला है, काम हो जाना चाहिए.

रविवार को यश ने कहा कि वह आगरा आ चुका है. फतेहाबाद रोड पर पांच सितारा होटल में ठहरा है. विधायक ने बताया वह दोस्त के बेटे की शादी में दिल्ली गए हुए थे. इसलिए वह घर आ जाए और बेटे आलोक से मिल ले.

यश घर आया और बेटे को साथ लेकर कपड़ों के शोरूम पर गया. वहां उसने 40 हजार रुपये के कपड़े खरीदे और बिल का भुगतान करने के लिए बेटे आलोक से कहा. आलोक ने पिता को फोन पर इसकी जानकारी दी.

विधायक ने बताया कि उनका माथा ठनक गया कि इतना बड़ा आदमी जो करोड़ों का होटल खरीदने आया हो, वह कपड़ों की खरीदारी के पैसे खुद क्यों नहीं दे रहा.

विधायक ने बताया कि उन्होंने बेटे से कहा कि उसे घर ले जाए और कहे कि कपड़े घर ही आ जाएंगे. घर पहुंचकर बेटे ने उस युवक का मोबाइल नंबर ट्रू कॉलर पर चेक किया तो नाम विराज शाह नहीं, यश अमीन निकला. इससे शक पुख्ता हो गया.

यश अमीन को सर्च इंजन पर चेक किया तो खबर निकली कि वह 2016 में उज्जैन के विधायक ठ’गी में जे’ल जा चुका है. यहां उसने कपड़े खरीदे, वहां मोबाइल खरीदकर 65 हजार का भुगतान विधायक से कराया था.

यश अमीन ने पहले से यह भी सोच रखा था कि अगर पोल खुली तो क्या कहना है. विधायक ने बताया कि जब उसे बताया कि वह जेल जा चुका है तो उसने कहा कि आप भी धो’खा खा गए, जो जेल गया, वह उसका हमशक्ल था, सब धो’खा खा जाते हैं. बाद में उसने कहा कि उज्जैन में पक’ड़ा गया युवक उसका जुड़वां भाई है जो परिवार से अलग रहता है.