UP जिला पंचायत के नतीजों के बाद अखिलेश यादव का बड़ा बयान, अधिकारियों को दी चेतावनी

जिला पंचायत अध्यक्ष चु’नाव परिणामों को लेकर समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने सत्तारूढ़ दल बीजेपी पर नि’शाना साधा है. अखिलेश ने कहा है, बीजेपी ने सभी लोकतांत्रिक मान्यताओं का तिरस्कार करते हुए स्वतंत्र और निष्पक्ष चु’नाव को एक मजाक बना दिया. उन्होंने कहा, सत्ता का ऐसा बदरंग चेहरा कभी नहीं देखा गया.

‘जनादेश का अ’पहरण’

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने आरो’प लगाया कि भाजपा ने अपनी हार को जीत में बदलने के लिए मतदाताओं के अपहरण, उनको मतदान से रोकने के लिए पुलिस और प्रशासन के सहारे बल प्रयोग किया और ज’बरन हेल्पर देकर अपने पक्ष में मतदान करा लिया. उन्होंने कहा, भाजपा की धां’धली का विरो’ध करने पर समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं से दुर्व्य’वहार किया गया. जनादेश का अ’पहरण किया.

अधिकारियों को दी चे’तावनी

अखिलश यादव ने कहा, जिला पंचायत सदस्य के चु’नाव में ज्यादातर परिणाम समाजवादी पार्टी के पक्ष में आए थे और भाजपा की बु’री हा’र हुई थी वहीं अब जिला पंचायत अध्यक्षों के चुनाव में भाजपा सत्ता के बल पर धां’धली करके बहुमत में आ गई है. इसमें प्रशासनिक अधिकारियों की मिली भगत भी सामने आई है. प्रशासनिक अधिकारियों को याद रखना चाहिए कि सेवा नियमावली का उल्लं’घन करते हुए सत्ता दल के पक्ष में संदिग्ध गतिविधियों में संलिप्त पाए जाने पर उनके विरूद्ध सख्त से स’ख्त का’र्रवाई की जाएगी.

‘सत्तारूढ़ दल की ता’नाशाही’

सपा अध्यक्ष ने कहा, राज्य निर्वाचन आयुक्त पंचायती राज को ज्ञापन देने के बावजूद कोई का’र्रवाई नहीं की गई. उत्तर प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्षों के चु’नाव में सत्तारूढ़ दल की ता’नाशाही दिखाई दी. उन्होंने आरो’प लगाया कि राजधानी लखनऊ में समाजवादी पार्टी समर्थक पंचायत सदस्य अरुण रावत का अप’हरण कर लिया गया. डीएम कार्यालय में समाजवादी पार्टी की अध्यक्ष पद की प्रत्याशी विजय लक्ष्मी को बिठा लिया गया और उनके पति विधायक अंबरीष पुष्कर को उनसे मिलने से भी रो’का गया. समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं और महिलाओं के विरो’ध पर उनसे अभ’द्रता की गई.