‘इंदिरा गांधी या नरेंद्र मोदी, सशक्त प्रधानमंत्री कौन?’, न्यूज़ एंकर के सवाल पर अजय देवगन ने दिया ऐसा जवाब

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर अजय देवगन की फिल्म ‘भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया’ रिलीज हो चुकी है। इस फिल्म ने दर्शकों का दिल जीतने में भी कोई कसर नहीं छोड़ी है। फिल्म के सिलसिले में ही अजय देवगन ने आज तक को एक इंटरव्यू दिया, जिसमें उनसे फिल्म से जुड़े कई सवाल किये गए। इससे इतर न्यूज एंकर ने अजय देवगन से पूछा कि इंदिरा गांधी और नरेंद्र मोदी में से ज्यादा सशक्त प्रधानमंत्री कौन हैं? न्यूज एंकर के इस सवाल को लेकर एक्टर अजय देवगन ने भी जबरदस्त अंदाज में जवाब दिया।

न्यूज एंकर चित्रा त्रिपाठी ने अजय देवगन से सवाल करते हुए कहा, “1971 में इंदिरा गांधी देश की प्रधानमंत्री थीं। उनके नेतृत्व में हमने किस प्रकार की बड़ी कामयाबी हासिल की और आजतक हिंदुस्तान उस बात का जश्न मनाता है। फिर बाद में हमने देखा कि पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए उरी में जो सर्’जिकल स्ट्रा’इक हुई, उसमें पीएम नरेंद्र मोदी का नेतृत्व था।”

चित्रा त्रिपाठी ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, “अगर आपका नजरिया जानना चाहें तो दोनों में से ज्यादा सशक्त कौन था?” इसका जवाब देते हुए अजय देवगन ने कहा, “आप उनकी तुलना नहीं कर सकते हैं। उस वक्त के लिए जो उन्होंने किया, वह सही था और आज जो मोदी जी कर रहे हैं, वह सही है। दोनों लोगों और दो स्थितियों की आप तुलना नहीं कर सकते हैं।”

अजय देवगन ने जवाब देते हुए आगे कहा, “एक स्थिति दी जाए और उसमें दो लोगों को डाला जाए, उसमें किसने बेहतर किया। तब आप यह सवाल कर सकती हैं, लेकिन यहां तो दो स्थिति और दौर ही बिल्कुल अलग है।” एक्टर का जवाब सुनकर न्यूज एंकर ने कहा, “आप से इसी तरह के जवाब की उम्मीद थी, हमें पता था कि आप बीच का रास्ता अपनाएंगे।”

न्यूज एंकर की बातों पर चुटकी लेते हुए अजय देवगन ने कहा, “फिर तो आपको सवाल ही नहीं करना चाहिए था। गलत बात तो बोली नहीं मैंने।” इससे इतर बता दें कि अजय देवगन जल्द ही ओटीटी प्लेटफॉर्म पर भी डेब्यू करने वाले हैं। ओटीटी को लेकर दिये गए एक इंटरव्यू में अजय देवन ने कहा कि इसमें लोगों को जितनी छूट मिलेगी, वह उतना ही इसका नाजायज फायदा उठाएंगे।

अजय देवगन ने इंटरव्यू में कहा था, “अगर हम इसे रेगुलेट नहीं करते हैं तो लोग इसका फायदा उठाएंगे ही। चार लोग फायदा उठाते हैं तो पूरी इंडस्ट्री बदनाम होती है। अगर आप इस ओर काम नहीं करेंगे तो हो सकता है कि लोग पॉर्न डालना भी शुरू कर दें।”