बीजेपी की सांसद से छि’ड़ी AIIMS डायरेक्टर की बहस, बोले- बोले- मैं सरकारी आदमी हूँ आपका…

भोपाल एम्स के डायरेक्टर और बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बीच वि’वाद बढ़ता जा रहा है। एक तरफ जहां सांसद ने स्वास्थ्य मंत्री से मिलकर उनकी शि’कायत करने की बात कही है। वहीं डायरेक्टर डॉ सरमन सिंह ने सांसद से कहा है कि मैं आपका नौकर नहीं हूं, जी हुजुरी न करूंगा।

बताते चलें कि विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने एम्स प्रबंधन पर कोरोना काल में अच्छी व्यवस्थाएं न देने पर सवाल उठाया था। साथ ही उन्होने डायरेक्टर डॉ सरमन सिंह पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरो’प लगाए थे। उन्होंने कहा था कि कोरोना के दौरान लोगों ने मुझे एम्स की शिकायतें की है। पलटवार करते हुए डॉ सरमन सिंह ने कहा है कि उनपर लगाए गए आरो’प झू’ठे हैं।

साथ ही उन्होंने आ’रोप लगाया कि सांसद प्रज्ञा हम सभी से नौकरों की तरह व्यवहार करती है। वो चाहती हैं कि हम उनकी जी हुजुरी करते रहे। लेकिन मैं ऐसा नहीं करूंगा। मीडिया से बात करते हुए डॉ सरमन सिंह ने कहा कि मैं सरकारी आदमी हूं, मैं किसी भी प्रकार की राजनीति में नहीं प’ड़ना चाहता हूं। मैं अपना काम कर रहा हूं।

हालांकि उन्होंने अस्पताल में अव्यवस्थाओं के सवाल पर चुप्पी साध ली।वहीं सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने डॉक्टर पर नया आ’रोप लगाते हुए कहा है कि उन्होंने मेरे नाम का दुरुपयोग कर निचले अधिकारियों पर दादागिरी दिखायी है। साथ ही उन्होंने कहा कि इस मा’मले का सबूत भी उनके पास उपलब्ध है।

गौरतलब है कि कोरोना की दूसरी जा’नलेवा लहर के बाद जब इंजेक्शन की खेप एम्स अस्पताल पहुंची तो मरीज के परिजनों ने आरो’प लगाया था कि मरीजों को सही समय पर इंजेक्शन उपलब्ध नहीं करवाया गया था। बताते चलें कि कोरोना के दूसरे लहर में मध्यप्रदेश की हालत काफी खरा’ब हो गयी थी। हजारों की संख्या में लोगों की मौ’त हुई थी। कई मरीजों को समय पर ऑक्सीजन और दवा उपलब्ध नहीं हो पाया था।