कांग्रेस के बेबाक नेता अधीर रंजन चौधरी का BJP पर बड़ा हम’ला, साथ ने राहुल गाँधी ने भी PM पर कह दी ये बात

देश में जारी कोरोना सं’कट के बीच विपक्षी दलों की तरफ से सरकार पर लगातार हम’ले किये जा रहे हैं। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसी की बात नहीं सुनते हैं। वहीं राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी पर नि’शाना साधते हुए कहा कि 1 तो महामा’री, उस पर प्रधान अहं’कारी।

चौधरी ने कहा कि झारखंड के मुख्यमंत्री ने कहा था कि मोदी जी सिर्फ बोलते हैं सुनते नहीं हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। हम सर्वदलीय बैठक बुलाने के लिए कह रहे हैं क्या ऐसा हुआ? एक के बाद एक हमारी पार्टी नेतृत्व ने महामा’री से नि’पटने के तरीके सुझाए, लेकिन क्या यह सरकार सुनती है? कांग्रेस ने रविवार को दा’वा किया कि देश में टीकों की कमी है और केंद्र सरकार को टीकाकरण के जिलावार आं’कड़े जारी करने चाहिए क्योंकि राज्यवार आंकड़ों में कई तथ्य छि’प जाते हैं।

इसी विषय पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर नि’शाना साधते हुए कहा कि वह ‘अहं’कारी’ हैं। उन्होंने हिंदी में ट्वीट में किया, ‘‘एक तो महामा’री, उस पर प्रधान अहं’कारी!’’ गांधी ने अपने इस ट्वीट के साथ एक खबर का हवाला दिया है जिसमें कोविशील्ड की निर्माता कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के एक शीर्ष अधिकारी ने आरो’प लगाया है कि सरकार ने टीकों के उपलब्ध भं’डार और डब्ल्यूएचओ के दिशानिर्देश को ध्यान में रखे बिना कई आयु वर्ग के लोगों को टीका लगाना शुरू कर दिया है।

कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने कहा कि दिल्ली में टीकों की कमी की वजह से 18 से 44 आयुवर्ग के लोगों के लिए टीकाकरण रोक दिये जाने के बाद अब ऐसी ही खबर तेलंगाना से आई है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को टीकाकरण के बारे में रोजाना जिलावार आंकड़े देने चाहिए। पूरे राज्य के आंकड़े में कई चिं’ताजनक तथ्य छि’प जाते हैं।’’ चिदंबरम ने कहा, ‘‘क्या ‘कोई कमी नहीं होने की’ हर्षवर्धन की दलील दिल्ली और तेलंगाना में सामने आते तथ्यों का जवाब दे देगी।’’

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि तेलंगाना के 33 जिलों में से 29 में कोई टीका नहीं लगा है क्योंकि टीकों की कमी है। उन्होंने आरो’प लगाया, ‘‘रोजाना टीकाकरण की संख्या कम होने की वजह टीकों की कमी है।’’ चिदंबरम ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से आग्रह किया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिलकर इस मु’द्दे का हल निकालें।

उन्होंने कहा कि केंद्र कहता है कि राज्यों के पास टीकों की 1.6 करोड़ खु’राक उपलब्ध हैं, लेकिन कर्नाटक और दिल्ली समेत अनेक राज्यों ने टीकों की कमी की वजह से 18 से 44 आयुवर्ग के लोगों को टीके लगाना बं’द कर दिया है। कांग्रेस सरकार की टीकाकरण नीति की लगातार आलोचना कर रही है।